Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या हैं ?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भारत सरकार की योजना हैं जिसको कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया हैं।  यह अब तक की सभी फसल बिमा योजना से सबसे कम प्रीमियम वाली योजना हैं जिसको 13 जनवरी 2016 से शुरू किया गया था। योजना के अंतर्गत अगर प्राकृतिक आपदा जैस सूखा , बाढ़ या ओलावृष्टि में अगर किसी किसान की फसल ख़राब हो जाती हैं तो योजना के अंतर्गत दिए गए बिमा प्रीमियम के अनुशार मुआवजा दिया जायेगा जो की सीधा किसान के बैंक खाते में नगद भुगतान के माध्यम से आएगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए केंद्र सरकार ने लगभग 9000 करोड़ का बजट घोषित किया हैं जिसका फायदा देश के करोडो किसानो को दिया जायेगा।  pmfby के अंतर्गत बिमा पोलीसी करवाने के लिए किसानो को अपनी फसल के अनुमानित मूल्य का खरीफ की फसल का 2 % प्रीमियम और रवि की फसल का 1.5%  बिमा प्रीमियम जमा करवाना पड़ेगा जिसके बाद अगर फसल प्राकृतिक आपदा में ख़राब होती हैं तो ऐसे किसान को फसल के अनुमानित मूल्य का पूरा पैसा बिमा कंपनी के द्वारा दिया जायेगा जिसमे सरकार की भागीदारी भी होती हैं।  

pradhan mantri fasal bima yojana  की सबसे बड़ी खास बात यह हैं की इस योजना के लिए पहले से चली आ रही सभी पुरानी योजनाओं की समीक्षा करके जो अच्छे फीचर हैं उनको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में शामिल किया गया हैं। जैसे की अगर किसान अपनी फसल को प्राकृतिक आपदा के कारण बौ नहीं पाता हैं तो भी उसको इस योजना का लाभ मिलेगा। 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की विशेषताएं क्या हैं-

  • pradhan mantri fasal bima yojana की सबसे बड़ी विशेषता यह हैं की अब तक देश में चली आ रही सभी योजनाओं की अच्छी बातों को इसमें शामिल करके इसको इतना सक्षम बनाया गया हैं की अब दुसरी योजनाओं की जरुरत ही नहीं हैं यानी अब सभी योजनाओं के लाभ को pmfby में एकीकृत कर दिया गया हैं ।
  • kisan bima yojana KE अंतर्गत बिमा की प्रीमियम राशि को 1.5 से 2 प्रतिशत रखा गया हैं जो की न के बराबर हैं यानी किसानो को कम प्रीमियम में अधिक और पूरा भुगतान मिलेगा 
  • प्रीमियम का अधिकांश हिस्सा सरकार के द्वारा देय होगा जिस से सरकार पर वार्षिक वित्तीय भार 500 फीसदी अधिक हो जायेगा लेकिन इसका पूरा फायदा किसानो को मिलेगा 
  • बीमत कसान यदि प्राकृतिक आपदा के कारण बोनी नहीं कर पाता हैं तो यह भी जोखिम में शामिल है जिससे उसे दावा राशि मिल सकेगी। 
  • प्रीमियम पर राहत के अलावा, किसान इस योजना के लाभों को प्राप्त करेंगे, इसमें फसलों की क्षति का शीघ्र आकलन किया जायेगा।फसलों में होने वाली क्षति के आंकलन और मुआवजा देने जैसे मामलों में तेजी लाने के लिये स्मार्ट फोन, रिमोट सेंसिंग टेक्नोलॉजी और यहां तक ​​कि ड्रोन का इस्तेमाल किया जायेगा।
  • पोस्ट हार्वेस्ट नुकसान को  भी शामिल किया गया हैं यानी फसल कटने के 14 दिन तक यदि फसल खेत में है और उस दौरान कोई आपदा आ जाती है तो किसान को दावा राशि प्राप्त हो सकेगी ।
  •  
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के उद्देश्य-

PMFBY जैसे की इसके नाम से ही पता चलता हैं की यह एक फसल बीमा योजना हैं जिसका मुख्य उद्देश्य किसानो का आर्थिक विकास करना हैं। भारत एक कृषि प्रधान देश हैं और यहाँ की एक बहुत बड़ी आबादी कृषि कार्यों में लगी हुई हैं और अपना जीवन व्यापन करती हैं।

कृषि योग्य जमीन और पानी की कमी के साथ साथ महंगे और परम्परगत कृषि के तरीको के कारन यहाँ के किसानो की आर्थिक स्थति बहुत ख़राब हैं और ऊपर से प्राकृतिक आपदा जैसे ओलावृष्टि , अधिक और कम बारिश के कारन किसानो की हालत दिन ब दिन ख़राब होती जा रही हैं।

check pmfby online application;@ pmfby.gov.in

किसानो का आर्थिक विकाश करने के लिए ही केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की हैं जिसका उद्देश्य किसानो की फसल का बिमा करके जो की बहुत कम बिमा प्रीमियम में किया जाता हैं उनकी ख़राब हुई फसल का उचित मुआवजा दिला सके।

kisan bima yojana अभी तक की सबसे बड़ी और सबसे अच्छी फसल बिमा योजना हैं जिसमे किसानो के हितों को सर्वपरि रखा गया हैं और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत पारदर्शिता का विशेष ध्यान रखा गया हैं

  • प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना (PMFBY) का उद्देश्य कृषि में स्थायी उत्पादन का समर्थन करना है
  • अप्रत्याशित घटनाओं से उत्पन्न फसल हानि / क्षति से पीड़ित किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना
  • खेती में अपनी निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आय को स्थिर करना। 
  • किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना। 
  • कृषि क्षेत्र में ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना जो खाद्य सुरक्षा, फसल में योगदान देगा रक्षा के अलावा कृषि क्षेत्र के विकास और प्रतिस्पर्धा में विविधता और वृद्धि उत्पादन के जोखिम से किसान।

· (pmfby)प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए पात्रता क्या हैं

· ऐसे बटाईदार और काश्तकार सहित सभी किसान जो अधिसूचित क्षेत्रों में अधिसूचित फसलों को उगा रहे हैं कवरेज के लिए पात्र हैं।

· हालांकि, किसानों को अधिसूचित / बीमित व्यक्ति के लिए बीमा योग्य ब्याज होना चाहिए फसलों।

· गैर-ऋणी किसानों को भूमि के आवश्यक दस्तावेजी साक्ष्य प्रस्तुत करने होते हैं।

·    राज्य में प्रचलित रिकॉर्ड (रिकॉर्ड्स ऑफ राइट (आरओआर), भूमि पर कब्जा प्रमाण पत्र (एलपीसी) आदि) और /। या संबंधित राज्य द्वारा अधिसूचित / अनुमत अनुबंध / अनुबंध विवरण / अन्य दस्तावेज सरकार। बटाईदार / किरायेदार किसानों और उसी के मामले में संबंधित द्वारा परिभाषित किया जाना चाहिए ।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

सभी किसान जिन्हें वित्तीय से मौसमी कृषि संचालन (SAO) ऋण स्वीकृत किया गया है अधिसूचित फसल के लिए संस्थान (एफआई) (यानी ऋणदाता किसान) को अनिवार्य रूप से कवर किया जाएगा। यह प्रावधान पीएसीएस से छूट वाले किसानों सहित एफआई द्वारा लिए गए किसी भी निर्णय को ओवरराइड करेगा कर्जदार किसानों की अनिवार्य कवरेज।

हालांकि गैर-मानक केसीसी / फसल ऋण परिभाषित और संबंधित प्रचलित प्रथाओं के अनुसार बैंक / सरकार। नियामक को अनिवार्य रूप से कवर नहीं किया जाएगा। kisan bima yojana हालाँकि बैंक शाखाएँ ऐसी सुविधा प्रदान कर सकती हैं गैर-ऋणी किसानों के रूप में नामांकन के लिए किसान।

pradhan mantri fasal bima yojana का लाभ केवल वही किसान ही ले सकते हैं, जिनके ऊपर किसी तरह का लोन बकाया नहीं है।

PMFBY के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या क्या हैं

  • यहाँ हम आप को दस्तावेजों की सूचि दे रहे हैं जिनकी सहायता से आप आसानी इस pmfby योजना का फायदा ले सकते हैं।
  • आवेदन करने वाले किसान की फोटो जो छह माह से पुरानी नहीं होनी चाहिए
  • किसान का परिचय पत्र जिसमे आधार कार्ड
  •  मतदाता परिचय पत्र ,
  •  ड्राइविंग लाइसेंस ,
  •  राशन कार्ड या और कोई भी ID हो सकती हैं।
  • पते के प्रमाण के लिएकोई भी ID जैसे बिजली का बिल , राशन कार्ड , आधार कार्ड आदि
  • अगर खेत आवेदन करने वाले किसान का स्वयं का हैं तो भूमि की नक़ल जिसमे खता नंबर और खसरा संख्या होनी चाहिए
  • अगर खेत बटाई या किराए पर लेकर फसल की बुवाई की गयी है, तो खेत के मालिक के साथ करार की कॉपी की फोटोकॉपी जरूर ले जायें.
  • बैंक खाता संख्या जिसके साथ बैंक IFC कोड होने चाहिए
  • बैंक की पासबुक की एक फोटो कॉपी
  • खेत में फसल की बुवाई करवाई गयी हैं इसका प्रूफ देना होगा अगर हो सके तो सरपच या पटवारी से प्रमाणित करवाना पड़ेगा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pmfby) 2020 के लाभ

जैसे कीहम सभी जानते हैं की हर सरकारी योजना के अनेको फायदे होते हैं और सभी सरकारी योजना देश के नागरिको के हितो को ध्यान में रख कर शरू की जाती हैं। (pm fasal bima yojana) किसान फसल बिमा योजना भी ऐसी योजना हैं जो किसानो के हितो को ध्यान में रख कर शरू की गयी हैं जिसके प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कई तरह के फायदे हैं

  • pm fasal bima yojana के लिए कोई भी किसान आवेदन कर सकता हैं और अगर किसी प्राकृतिक आपदा से फसल को कोई नुक्सान पहुँचता हैं तो उसका फायदा फसल बिमा योजना के रूप में किसान को मिलेगा
  • kisan bima yojana के जरिये किसानो का आर्थिक विकास होगा
  • इस योजना के तहत बीमे का पैसा सीधा बैंक खाते में आता हैं जिस से बिचौलियों और भ्रस्टाचार का डर नहीं रहेगा

PMFBY का आवेदन फॉर्म कहाँ से प्राप्त करें और इसको कैसे भरें

फसल बिमा योजना का फॉर्म आप ऑनलाइन भी भर सकते हैं और ऑफलाइन भी भर सकते हैं।अगर आप PMFBY का फॉर्म ऑफलाइन भरना चाहते हैं तो आप किसी भी अधिकृत बैंक की शाखा में जाकर भर सकते हैं और अगर आप को PMFBY FORM भरने में कोई समस्या आती हैं तो शाखा के अंदर किसी भी कर्मचारी से सलाह ली जा सकती हैं।

ऑफलाइन मिलने वाला फॉर्म बिलकुल निशुल्क होता हैं। ऑफलाइन आवेदन फॉर्म भरकर बैंक में जमा करवाया जा सकता हैं लकिन इसके लिए सबसे पहले सम्बंदित बैंक में खाता खुलवाना जरुरी होता हैं। यहाँ हम आप को इस योजना के लिए दोनों तरह से फॉर्म भरना सीखेंगे।अब बात करते हैं pradhan mantri fasal bima yojana के Online Form भरने के बारें मे है।

Pmfby Online Application Form कैसे भरें

pmfby (प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ) का फॉर्म ऑनलाइन भरने के लिए इसके पोर्टल पर जाना होगा और हमारे बताये गए अनुशार हर स्टेप को फॉलो करना पड़ेगा। Pmfby Online Application  के लिए सबसे ख़ास और जरुरी ध्यान रखने योग्य जो बात हैं वो ये हैं की फॉर्म सावधानी पूर्वक भरें नहीं तो बीमा राशि मिलने में परेशानी हो सकती हैं।

सबसे पहले आप को pm fasal bima yojana की अधिकारिक वेबसाइट https://pmfby.gov.in/ पर जाना होगा। यहाँ आप के सामने कुछ इस तरह की विंडों ओपन होगी:-

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रोसैस

यहाँ पर आप अपनी मनपसंद भाषा का चुनाव कर सकते हैं। fasal bima yojana के लिए सबसे पहले आप को रजिस्टर करना पड़ेगा इसके लिए farmer Corner पर click करें। जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आप के सामने कुछ इस तरह की  एक नयी विंडो ओपन होगी

यहाँ सबसे पहले अपना pm fasal bima yojana Registration करना होगा और इसके लिए Guest Farmer के option पर click करना हैं जिस से आप के सामने pm fasal bima yojana online application form for Registration ओपन होगा। यह फॉर्म आप की बेसिक जानकारी के लिए होता हैं और इसको बड़ी सावधानी पूर्वक भरना होता हैं।

 Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration-

इस  फॉर्म में आप को अपनी कुछ बेसिक सी डिटेल देनी होती हैं जैसे अपना नाम , फादर नाम, जमीं का विवरण , बैंक का विवरण आदि। pmfby online application ये सब करने के बाद आप के मोबाइल नम्बर पर एक otp आए गा जिसको डालने का बाद आप अपने आप इस pradhan mantri fasal bima yojana के लिए रेजिस्टर्ड हो जायेंगे। 

डालने का बाद आप अपने आप इस pradhan mantri fasal bima yojana के लिए रेजिस्टर्ड हो जायेंगे। 
pmfby online application form भरने के बाद आप जब चाहे अपनी पूरी जानकारी  Registerd Mobile नंबर के साथ login करके देख सकते हैं।

 फॉर्म की स्थति जानने के लिए:-

 अगर आप ने फसल बिमा योजना के लिए आवेदन किया हैं और अभी तक आप के पास इसके सम्बंद में कोई सुचना नहीं आयी हैं तो आप स्वयं भी अपने प्रधानमंत्री बीमा योजना आवेदन फॉर्म की स्थति को चेक कर सकते हैं। इसके लिए आप को उपरोक्त चित्र में दिखाए अनुशार pmfby.gov.in  पर क्लिक करके know your application status for every step पर क्लिक करके अपनी receipt no. डालकर चेक कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल के  मुआवजे के लिए कैसे आवेदन करें 

आप के मन में यह सवाल आ रहा होगा की हमने pm fasal bima yojana के लिए आवेदन कर दिया हैं  लेकिन अगर हमारी फसल ख़राब हो जाती हैं तो हम किस तरह से pmfby claim application यानी फसल के मुवावजे के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

इसके लिए सबसे पहले अपनी ख़राब हुई फसल की जानकारी अपने गाँव के पटवारी या पंचायत कार्यालय में 72 घंटे के अंदर देनी होती हैं जिस से पटवारी इसकी रिपोर्ट तैयार करके देता हैं.pmfby online application इस रिपोर्ट को pmfby claim form के साथ सम्बन्दित्त बैंक या aic या insurance कम्पनी को देनी होती हैं।

इसके बाद बैंक या insurance कंपनी का कर्मचारी आके मौका मुआवना करके रिपोर्ट प्रस्तुत करता हैं और फिर मुवावजे और नुकसान की सूचि तैयार होती हैं जिस से 15 या 20 दिन में किसान के बैंक खाते में आ जाता हैं पैसा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बिमा प्रीमियम कैलकुलेटर

बिमा प्रीमियम कैलकुलेटर का प्रयोग करके किसान अपनी बिमा राशि के प्रीमियम के बारें में जान सकता हैं।और इसके लिए pm fasal bima yojana की अधिकारिक वेबसाइट पर Bima Premium Calculator दिया गया हैं। तो आओ जानते हैं की किस तरह इस बिमा प्रीमियम कैलकुलेटर का प्रयोग करके हम अपनी प्रीमियम राशि के बारें में सटीक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

सबसे पहले इसकी वेबसाइट पर जाकर बिमा प्रीमियम कैलकुलेटर पर क्लिक करते हैं जिस से आप के सामने एक कैलकुलेटर ओपन हो जाएगा जो कुछ इस तरह दिखेगा.

यहाँ सबसे पहले आप को सेशन यानी रवि / खरीफ डालना हैं इसके बाद नेक्स्ट में साल डालना हैं , फिर आप को योजना का नाम सेलेक्ट करना हैं जो अपने आप लिस्ट से चुनना पड़ता हैं  इसके बाद राज्य , जिला , और फसल का नाम जैसे गेहूँ , जौ , चना या और कोई भी फसल हो सकती हैं जैसे ही आप ये सब डालोगे तो आप के सामने एरिया यानी क्षेत्र का कॉलम आ जायेगा जिसमे आप को अपनी जमीन का क्षेत्र डालना हैं और फिर Calulate पर क्लिक करना हैं जिस से आप के सामने अपने प्रीमियम की पूरी जानकारी आ जाएगी। 

फसल बीमा करने वाली कंपनियां एवं उनके टोल फ्री नम्बर

कंपनी का नामटोल फ्री नम्बर
एग्रीकल्चर इनश्योरेंस कंपनी (AIC)18001030061, 1800116515
एचडीएफसी ईआरजीओ जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (HDFC ERGO)18002660700,
न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी (NEW INDIA ASSURANCE)18002091415
ओरिएण्टल इंश्योरेंस (ORIENTAL INSURANCE)1800118485

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here