हाथरस दुष्कर्म मामले में हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से निष्पक्ष जांच की मांग, अधिवक्ता ने लिखा खत

हाथरस दुष्कर्म मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को पत्र भेजकर इस समूचे घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की गई है । इस पत्र में विशेष जांच एजेंसी जांच कराने की मांग की गई है।

हाथरस की बिटिया के साथ दरिंदगी और उसके बाद हुई उसकी मौत को लेकर दिल्ली से हाथरस सहित देश भर में गुस्सा है। लोग गुस्से में हैं। घटना को लेकर धरना-प्रदर्शन हो रहे हैं और आरोपियों को जल्द सख्त सजा की मांग की जा रही है। 

उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की युवती से दुष्कर्म के बाद मौत को लेकर देर रात तक हंगामा होता रहा। पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए कानपुर से दिल्ली भेजा गया था, जहां मंगलवार सुबह उसकी मौत हो गई। अंतिम संस्कार को लेकर देर रात तक हंगामा हुआ। पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने परिवार को एक कमरे में बंद करने के बाद जबरन अंतिम संस्कार किया। इस दौराना हाथापाई भी हुई। वहीं पुलिस अधिकारी दावा कर रहे हैं कि पीड़िता का अंतिम संस्कार परिवार की मर्जी से हुआ है। दिल्ली से लेकर यूपी तक इस केस की चर्चा है और खूब राजनीति भी हो रही है। हाथरस रेपकेस में एसआईटी का गठन किया गया है। यूपी के डीआईजी इस तीन सदस्यीय एसआईटी का हिस्सा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here